Hindi

#पुलवामा आतंकी हमला: वतन के आगे कुछ भी नहीं

ध्यान से देखिये इस तस्वीर को, क्या कहना चाहते है ये आपसे? तिरंगे में लिपटे ये वो वीर हैं जिन्होंने जन्म ही  इस सम्मान के लिए लिया था। पुलवामा, कश्मीर में हुआ आतंकी हमला जिसमें हमारे 44 जवान शहीद हो गए।

ये चुप रहने वाला मुद्दा नहीं है। RAW के चीफ रह चुके विक्रम सूद ने रविवार को कहा की ये किसी एक आदमी का नहीं, बल्कि एक पुरे गूट या समूह का काम है।

जब उनसे यह पूछा गया की सही जवाबी हमला क्या होना चाहिए    तो उनका जवाब था की यह कोई बॉक्सिंग मैच नहीं है जिसमें एक मुक्के के बदले दूसरा मुक्का मारा जाए।

2

40  जवानो की शहादत और कारण कौन?  जैश-ए-मोहम्मद के एक आत्मघाती हमलावर जिसने CRPF से भरी एक बस को 100 किलो विस्फोटक ले जाते हुए  एक गाड़ी से टक्कर मारी। इसके साथ ही 2500  जवान जिसे 78  गाड़ियों का काफिला ले कर जा रहा था। आतंकियों की साज़िश पुरे काफिले को ख़त्म करने की थी।  हमला इतना घातक था की इसमें कई भारतीय जवान शहीद हो गए।उसके बाद गोलीबारी भी की गई।यह सब एक पूरी साज़िश के तहत किया गया हमला था। हमले की पूरी ज़िम्मेदारी आतंकवादी जैश-ए-मोहम्मद ने लिया जो की एक पाकिस्तानी है।

हमले के बाद पूरा भारत एक स्वर में बोल उठा ” पाकिस्तान को जवाब देना पड़ेगा। इसी सिलसिले में भारत ने अमेरिका, रूस, चीन, Uk , फ्रांस सभी  P 5 राष्ट्रों समेत २५ देशो के साथ बैठक में पुलवामा में हुए हमले की जानकारी  दी। हमारे विदेश सचिव विजय गोयल ने पाकिस्तान के साथ सभी प्रकार के समर्थनों को समाप्त करने की मांग राखी। LOC पर किया गया सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भी पाकिस्तान के नापाक इरादे कम नहीं हुए।

1a

जवाबी रूप में कारवाही हो सकती थी लेकिन उससे पहले ही पुलवामा में आतंकियों और जवानो के बिच मुढभेड़ शुरू हो गया। जिसमें फिर से हमारे 4 जवानो ने अपनी पूरी ताकत लगते हुए भारत माता पर खुद को न्योछावर कर दिया। लेकिन जाते जाते इस हमले के जड़ अर्थात कामरान उर्फ़ गाज़ी रशीद को ख़त्म करते हुए गए। ये भारत उनके इस बलिदान को हमेश याद रखेगा और उन सभी आतंकवादियों को करारा जवाब दिया जाएगा। हम उसी दिन का इंतज़ार करते है जब हमारा देश आतंक मुक्त हो जाएगा।

iChhori  सलाम करता है उन जाबाज़ सिपाहियों को जिन्होंने अपने मात्र भूमि के लिए अपने प्राण न्योछावर कर दिए और उफ़ तक नहीं किया। #JaiHind

pics: Google

You Might Also Like