Hindi

#पुलवामा आतंकी हमला: वतन के आगे कुछ भी नहीं

ध्यान से देखिये इस तस्वीर को, क्या कहना चाहते है ये आपसे? तिरंगे में लिपटे ये वो वीर हैं जिन्होंने जन्म ही  इस सम्मान के लिए लिया था। पुलवामा, कश्मीर में हुआ आतंकी हमला जिसमें हमारे 44 जवान शहीद हो गए।

ये चुप रहने वाला मुद्दा नहीं है। RAW के चीफ रह चुके विक्रम सूद ने रविवार को कहा की ये किसी एक आदमी का नहीं, बल्कि एक पुरे गूट या समूह का काम है।

जब उनसे यह पूछा गया की सही जवाबी हमला क्या होना चाहिए    तो उनका जवाब था की यह कोई बॉक्सिंग मैच नहीं है जिसमें एक मुक्के के बदले दूसरा मुक्का मारा जाए।

2

40  जवानो की शहादत और कारण कौन?  जैश-ए-मोहम्मद के एक आत्मघाती हमलावर जिसने CRPF से भरी एक बस को 100 किलो विस्फोटक ले जाते हुए  एक गाड़ी से टक्कर मारी। इसके साथ ही 2500  जवान जिसे 78  गाड़ियों का काफिला ले कर जा रहा था। आतंकियों की साज़िश पुरे काफिले को ख़त्म करने की थी।  हमला इतना घातक था की इसमें कई भारतीय जवान शहीद हो गए।उसके बाद गोलीबारी भी की गई।यह सब एक पूरी साज़िश के तहत किया गया हमला था। हमले की पूरी ज़िम्मेदारी आतंकवादी जैश-ए-मोहम्मद ने लिया जो की एक पाकिस्तानी है।

हमले के बाद पूरा भारत एक स्वर में बोल उठा ” पाकिस्तान को जवाब देना पड़ेगा। इसी सिलसिले में भारत ने अमेरिका, रूस, चीन, Uk , फ्रांस सभी  P 5 राष्ट्रों समेत २५ देशो के साथ बैठक में पुलवामा में हुए हमले की जानकारी  दी। हमारे विदेश सचिव विजय गोयल ने पाकिस्तान के साथ सभी प्रकार के समर्थनों को समाप्त करने की मांग राखी। LOC पर किया गया सर्जिकल स्ट्राइक के बाद भी पाकिस्तान के नापाक इरादे कम नहीं हुए।

1a

जवाबी रूप में कारवाही हो सकती थी लेकिन उससे पहले ही पुलवामा में आतंकियों और जवानो के बिच मुढभेड़ शुरू हो गया। जिसमें फिर से हमारे 4 जवानो ने अपनी पूरी ताकत लगते हुए भारत माता पर खुद को न्योछावर कर दिया। लेकिन जाते जाते इस हमले के जड़ अर्थात कामरान उर्फ़ गाज़ी रशीद को ख़त्म करते हुए गए। ये भारत उनके इस बलिदान को हमेश याद रखेगा और उन सभी आतंकवादियों को करारा जवाब दिया जाएगा। हम उसी दिन का इंतज़ार करते है जब हमारा देश आतंक मुक्त हो जाएगा।

iChhori  सलाम करता है उन जाबाज़ सिपाहियों को जिन्होंने अपने मात्र भूमि के लिए अपने प्राण न्योछावर कर दिए और उफ़ तक नहीं किया। #JaiHind

pics: Google

Read More...

Inspiring Women Achievers

MALALA YOUSAFZAI: THE YOUNGEST NOBEL LAUREATE

Standing out for yourself is courage and standing out for others is something beyond our imagination. It can be one’s inherent nature to be kind towards one another but working for the social stuff for others is what a selfless person does. Malala Yousafzai is one of them; she is a social activist for female education and decked with a Nobel Peace Prize in December 10, 2014.

2

She is the woman who deserves to be crowned. She is known for human rights advocacy and education for females and children. In the area of Swat Valley in Khyber Pakhtunkhwa, northwest Pakistan, where the girl education was banned by Taliban, she was shot in the left eye when she was only 15 but she survived it. It was her father’s motivation to her that she didn’t give up who didn’t clip her wings. She wants to spread peace everywhere and giving voice to all the voiceless children who are still not getting the right to education.

She says- “This Nobel prize is for those who want education, for those frightened children who want peace, it is for those children who want change. I’m here to stand up for their rights, to raise their voice. It is not time to pity them but to take action so it becomes the last time that we see a child deprived of education.”

Malala is another name for strength. She spoke up for the 30 million children who don’t get their education. After raising her voice for those children, she got shot by a Taliban. She’s a woman who is incomparable who’s still fighting for the female education and human rights. The most impressive thing, after all, she endured is that she never showed anger, vengeance or any promotion of violence.

3

It was the goal of the Taliban to make her silent as she spoke up for the female education but that bullet made her even more fearless. This is what a courageous woman is all about; she becomes more fearless when someone tries to suppress her voice or her desires. It makes her more powerful than before and it becomes difficult to stop her. A woman is unstoppable after when she realizes what she’s capable of and even not thinking about the consequences, she fights. This is what Malala did; she’s now unstoppable who’s going to spread education and peace.

An inspiration she is!

Pics source- Google

Read More...